Sat. Apr 20th, 2024

It’s All About Cinema

सुशांत केस में CFSL रिपोर्ट का दावा, नहीं मिला हत्या का कोई सुराग

1 min read

सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद दावा किया जा रहा था कि उनकी हत्या की गई थी. सुशांत के पिता ने पटना में एफआईआर दर्ज कराते हुए भी रिया चक्रवर्ती पर यही आरोप लगाया था कि सुशांत की हत्या की गई है. जिसको लेकर सीबीआई सुशांत केस की जांच भी कर रही है. वहीं इसी कड़ी में सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैब (CFSL) की रिपोर्ट आई है जिसके अनुसार कहा जा रहा है कि अभिनेता ने अपने दोनों हाथों का इस्तेमाल कर फांसी लगाई है. हत्या का रिपोर्ट में कोई भी सुराग नहीं मिला है. सीन आफ क्राइम के री-क्रिएशन के बाद सुशांत की मौत मामले को फुल हैंगिंग मानने से इनकार कर दिया.

 CFSL filmania magazine http://www.filmaniaentertainment.com/magazine/

सीएफएसएल की आई रिपोर्ट

सुशांत मामले में सीएफएसएल की रिपोर्ट आ गई है. CFSL ने अपनी रिपोर्ट सीबीआई को भी सौंप दी है. इस रिपोर्ट में सुशांत की मौत को ‘पार्शियल हैंगिंग’ यानी पूर्ण फांसी नहीं कहा गया है. इसका अर्थ यह होता है कि मरने वाले का पैर पूरी तरह से हवा में नहीं था. मतलब कि किसी चीज से टिका हुआ था लेकिन बता दे सुशांत के कमरे में कोई टूल भी नहीं पाया गया है. जिस कारण अंदाजा लगाया जा रहा है कि शायद बेड से अभिनेता का पैर टिका हुआ होगा. बता दे आत्महत्या के ज्यादातर मामले में पार्शियल हैंगिंग पाई जाती है.

रिपोर्ट में आई कई बातें सामने

CFSL रिपोर्ट में कई बात खुलकर सामने आई है. रिपोर्ट के अनुसार अभिनेता की हत्या नहीं की गई है. उन्होंने अपने दोनों हाथों का इस्तेमाल फांसी लगाने में की है. बताया गया है कि दाहिने हाथ का इस्तेमाल उन्होंने खुद को लटकाने में किया था. रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि राइट हैंड ही इस तरह से फांसी लगा सकता है. इन सबके अलावा सीएफएसएल ने अपनी रिपोर्ट में गर्दन पर कितनी मात्रा में फंदे का दबाव पड़ा था गर्दन पर फंदा कसने के कितने देर बाद तक शख्स जिंदा था. ऐसे तमाम तथ्यों को शामिल किया है. बता दे अभिनेता ने हरे रंग के कपड़े से फांसी लगाई थी.

ये भी पढ़े, NCB ने ड्रग्स मामले में दीपिका, सारा,श्रद्धा समेत पांच को भेजा समन, होगी पूछताछ

रुमा सिंह