Thu. Oct 22nd, 2020

It's All About Cinema

Filmania Film festival- 60 आवर्स फिल्ममेकिंग चैलेंज’ युवा फिल्ममेकर्स के लिए सुनहरा अवसर.. जानें क्या है खास इस फिल्म फेस्टिवल में

1 min read

फिल्मेनिया एंटरटेनमेंट द्वारा अरूनुज फिल्ममेकिंग एंड एक्टिंग स्कूल के सहयोग से Filmania Film Festival का आयोजन किया जा रहा है. सिनेमा के क्षेत्र में रूचि रख रहे लोगों के लिए फिल्मेनिया समय समय पर सिनेमा से सम्बंधित कार्यक्रम का आयोजन करता रहता है. इसी कड़ी में फिल्मेनिया इस बार ‘सिक्सटी आवर्स फिल्ममेकिंग चैलेंज’ ले कर आयी है. जिसके निर्णायक मंडल में बॉलीवुड के अभिनेता – गौरव द्विवेदी, सत्यकाम आनंद, आलोक पांडेय, म्यूजिक डायरेक्टर मुकेश राजेश्वरी सिंह और प्रोडक्शन डिज़ाइनर बीवा महाजन जैसी हस्तियां रहेंगी. ऑर्गेनाइजर के तौर पर गौरव, सुंदरम श्रीवास्तव, अनुज कुमार रॉय और दिव्यमान यति होंगे.

 Filmania Film festival filmania magazine http://www.filmaniaentertainment.com/magazine/

फेस्टिवल को मुख्यतः दो केटेगरी के बांटा गया है – अमेच्योर और प्रोफेशनल. ऐसे विद्यार्थी या टीम लीडर जिन्होंने अबतक कोई भी फिल्म नहीं बनाया है या 3 फिल्म तक निर्माण कर चुके हैं उसे अमेच्योर केटेगरी में रखा गया है. 3 या तीन से ज्यादा फिल्म का निर्माण करने वाले को प्रोफेशनल केटेगरी में रखा गया है. इस फिल्म फेस्टिवल की कई ऐसी बातें हैं जो लोगों को अपने ओर आकर्षित कर रही है. विजेता को न सिर्फ पुरस्कृत किया जायेगा अपितु उन्हें बॉलीवुड एक्टर गौरव द्विवेदी और आलोक पांडेय से मिलने का मौका भी दिया जायेगा. फिल्मेनिया एंटरटेनमेंट और अरुनुज फिल्ममेकिंग एंड एक्टिंग स्कूल के आगामी प्रोजेक्ट में साथ काम करने का मौका भी मिलेगा. जाने माने म्यूजिक डायरेक्टर मुकेश राजेश्वरी सिंह के म्यूजिक एल्बम में विजेता को काम करने का मौका दिया जायेगा. फिल्मेनिया फिल्म फेस्टिवल के विनर को किसी एक जूरी मेंबर के साथ स्पेशल सेशन दिया जायेगा.

फिल्मेनिया फिल्म फेस्टिवल के रजिस्ट्रेशन के लिए क्लिक करें यहां


फिल्म गैंग्स ऑफ़ वासेपुर और मसान फेम बॉलीवुड अभिनेता सत्यकाम आनंद ने टीम को बधाई देते हुए कहा कि सिनेमा बनाने से बड़ा चैलेंज है सिनेमा को लोगों तक पहुँचाना और फिल्म फेस्टिवल इसका सबसे सशक्त माध्यम है. फिल्म मांझी द माउंटेनमैन और रंगरसिया से चर्चित हुए अभिनेता गौरव द्विवेदी ने बताया कि हुनर और मेहनत भी तभी सफल होती है जब वो सही अंजाम तक पहुँच जाये. नए फिल्ममेकर्स के लिए फिल्म फेस्टिवल एक मौके के सामान है और मौके बार बार नहीं मिलते.

फिल्मेनिया एंटरटेनमेंट ग्रुप के डायरेक्टर गौरव ने बताया कि फिल्म बनाना जितना मुश्किल काम है उससे कहीं ज्यादा मुश्किल है फिल्मों को लोगों तक पहुंचा पाना. हम नए और पुराने टैलेंट्स को ऐसा ही एक प्लेटफार्म दे रहे हैं जिसके जरिए वह अपनी फिल्में अधिक से अधिक लोगों के सामने ला सकें और खुद की पहचान बना सकें.
ऑर्गेनाइज़र सुंदरम श्रीवास्तव ने कहा कि मुझे फिल्मों से बहुत प्यार है. फिल्मेनिया फ़िल्म फेस्टिवल युवा फिल्ममेकर के लिये बहुत सुनहरा मौका है. नए फिल्मकारों के हुनर को दुनिया के सामने लाने के लिए इस तरह का आयोजन समय-समय पर फिल्मेनिया करती रहती है.
अरुनुज फिल्ममेकिंग एंड एक्टिंग स्कूल के डायरेक्टर अनुज कुमार रॉय ने बताया कि जब फिल्मेनिया टीम की तरफ से फिल्म फेस्टिवल आयोजन के बारे में बताया गया तो मुझे कुछ नया दिखा. जो सबसे भिन्न था. 60 घंटे में फिल्म निर्माण करना ये अपने आप में काबिल ए तारीफ है और काफी रोचक भी.

फिल्मेनिया फिल्म फेस्टिवल के रजिस्ट्रेशन के लिए क्लिक करें यहां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *